अफगानिस्‍तान में बंदूकधारियों ने पांच अफगानों को उतारा मौत के घाट…

अफगानिस्‍तान: अफगानिस्‍तान के जलालाबाद शहर में बंदूकधारियों ने पांच अफगानों को मौत के घाट उतार दिया। इस हमले में एक जापानी सहायता कर्मी की भी मौत हो गई है। खास बात यह है कि यह हमला तब हुआ जब कुछ दिनों पूर्व यहां कार्य कर रहे विदेशी मानवीय समूहों को हाई अलर्ट जारी किया गया था। यह अलर्ट तब जारी किया गया था, जब काबूल में बमबारी में संयुक्‍त राष्‍ट्र के लिए एक अमेरिकी सहायता कर्मी की हत्‍या कर दी गई थी।

इसके पूर्व अफगानिस्‍तान के पेशावर में जापान मेडिकल सर्विसेज के प्रमुख डॉक्टर टेट्सु नाकामुरा को बंदूकधारियों ने जलालाबाद में एक वाहन से निशाना बनाया। नंगरहार के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोगियानी ने कहा कि डॉ नाकामुरा घायल हो गए थे। इस हमले में उनके तीन सुरक्षा गार्ड, एक ड्राइवर और एक अन्य सहयोगी की मौत हो गई थी।

नाकामुरा को जापान में उनके सहायता कार्य के लिए अच्छी तरह से जाना जाता है। वह यहां कई दशकों से सेवारत हैं। डाक्‍टर नाकामुरा ने 1984 में उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान के पेशावर में और 1991 में एक दूरस्थ नंगरहार गांव में एक क्लिनिक खोलने के साथ यहां के लोगों की सहायता का कार्य शुरू किया। 1998 में इनके संगठन ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान में चिकित्सा कार्यक्रमों के लिए पेशावर में एक बड़े अस्पताल की स्थापना की। दो माह पूर्व नांगरहार प्रांत के जलालाबाद शहर में अफगान सेना के वाहन के पास एक रिक्शा में रखे विस्फोटक पदार्थ के गिरने से एक बच्‍चे समेत 10 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले में 27 लोग घायल हो गए थे।

बीते दिनों अमेरिका की आतंकी संगठन तालिबान के साथ वार्ता रद होने के बाद हमले तेज हो गए हैं। अफगान सेना और आतंकी संगठन तालिबान के बीच कड़ा संघर्ष देखने का मिल रहा है। यह विस्‍फोट भी उसी कड़ी का अगला हिस्‍सा है। बीते रविवार को अफगानिस्तान के ताहर प्रांत में चलाए गए एक सैन्‍य अभियान ऑपरेशन ऑल आउट के तहत 89 तालिबानी आतंकी (Taliban terrorists) मारे गए हैं, जबकि 60 से अधिक घायल हो गए हैं।

Nikita Patel…