चीन में 17 वर्षीया युवती को TikTok ने किया ब्‍लॉक; जाने पूरा मामला…

शॉर्ट वीडियो बनाने वाले प्‍लेटफार्म (एप) TikTok ने 17 साल की अमेरिकी मुस्लिम लड़की को ब्‍लॉक कर दिया क्‍योंकि उसने अपने एक वीडियो में शिनजियांग में रह रहे उइगर मुस्लिम के साथ चीन के बर्ताव का उल्‍लेख कर उसकी निंदा की है। दरअसल, टीनएज युवती द्वारा बनाए गए इस वीडियो की शुरुआत देखकर ऐसा लगता है कि वह कोई ब्‍यूटी टिप्‍स देने जा रही है।

जैसे दे रही हो ब्‍यूटी टिप्‍स: वीडियो के शुरुआत में वह कहती है, ‘हाय, मैं आपको बताने जा रही हूं कि लंबी पलकें कैसे हो सकती हैं।’ कुछ सेकेंड के बाद वह दर्शकों से अपनी पलकें झुकाने को कहती है। ‘अपने फोन का इस्‍तेमाल करें और इसमें सर्च करें कि चीन में क्‍या हो रहा है, मुस्लिमों को वे कैसे डिटेंशन कैंप में रख रहे हैं।’

वायरल हुआ वीडियो: अमेरिका में रहने वाली 17 साल की फिरोजा अजीज ने चीन के शिंजियांग प्रांत स्थित डिटेंशन कैंप में रह रहे मुस्लिमों के साथ चीन सरकार के व्‍यवहार की निंदा करते हुए वीडियो बना दिया। जो काफी वायरल हुआ और आखिरकार फिरोजा को ब्‍लॉक कर दिया गया है।

डिटेंशन कैंप में उइगर मुस्लिम: वीडियो में फिरोजा कहती है, ‘चीन में डिटेंशन कैंप बनाए गए और इसमें निर्दोष मुसलमानों को डाला जा रहा है। अपहरण, हत्‍याओं के साथ ही मुस्लिम लड़कियों के साथ दुष्‍कर्म किया जा रहा है। वीडियो के आखिर में फिरोजा फिर से पलकों को सुंदर बनाने के तरीके बताने लगती हैं।

TikTok ने बताया कोई और कारण: TikTok का कहना है कि फिरोजा का अकाउंट इस वीडियो की वजह से नहीं ओसामा बिन लादेन वाले वीडियो की वजह से बंद हुआ है। एन के अमेरिकी प्रमुख एरिक हैन ने कहा, ‘यूजर का अकाउंट और डिवाइस पर इसलिए बैन लगाई गई क्योंकि उसने ओसामा बिन लादेन का वीडियो पोस्ट किया था। प्‍लेटफार्म पर आतंकी मामलों से जुडें कंटेंट डालने की अनुमति नहीं है।

40 सेकेंड के वीडियो को बेशुमार लाइक्‍स: 40 सेकेंड के इस वीडियो क्लिप को 498,000 से अधिक लाइक्‍स मिले हैं। वीडियो बनाने वाली फिरोजा न्‍यूजर्सी में हाईस्‍कूल की छात्रा हैं। उनका कहना है कि वीडियो पोस्‍ट करने के बाद TikTok ने उनका अकाउंट सस्‍पेंड कर दिया था। वहीं चीनी सोशल मीडिया का विशाल प्‍लेटफार्म ByteDance के प्रवक्‍ता जोश गार्टनर ने बताया कि फिरोजा का अकाउंट इसलिए सस्‍पेंड कर दिया गया क्‍योंकि उसने पहले एक वीडियो पोस्‍ट किया था जिसमें ओसामा बिन लादेन की तस्‍वीर थी और यह कंपनी के पॉलिसी के विरुद्ध है।

हालांकि फिरोजा अजीज ने मंगलवार को किए गए अपने मेल में कहा कि उन्‍होंने यह वीडियो अमेरिका में बढ़ रहे भेदभाव और रेसिज्‍म की ओर ध्‍यान खींचने के लिए डाला। फिरोजा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि TikTok को वैसे कंटेंट को बैन नहीं करना चाहिए जो किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है बल्कि किसी को हो रहे नुकसान को दिखाता है।’

Nikita Patel…