पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में जुटेंगे प्रदर्शनकारी और करेंगे इमरान खान के इस्तीफे की मांग…

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान को हटाने की मांग तेज होती जा रही है। पाकिस्तानी लोग खुद इमरान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर 27 अक्टूबर से ही पाकिस्तान के कई शहरों में आजादी मार्च निकालकर पीएम इमरान खान के इस्तीफे की मांग की जा रही है।गुरुवार को हजारों प्रदर्शनकारी पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में जुटेंगे और पीएम इमरान खान के इस्तीफे की मांग करेंगे।

वह सरकार पर आर्थिक मोर्चों पर नाकाम रहने का दबाव बना रहे हैं। प्रदर्शनकारी पाकिस्तान की बदहाल अर्थव्यवस्था के लिए पीएम इमरान खान को दोषी मानते हैं और इस कारण उनका इस्तीफा मांग रहे हैं। यह सरकार विरोध प्रदर्शन राजनीति पार्टी फज़लुर्रहमान द्वारा आयोजित किया जाता है, जो पाकिस्तान की सबसे बड़ी धार्मिक पार्टियों में से है। वो कहती है कि क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान की सरकार निकम्मी है। इमरान खान को चुनावों में धांधली कर सेना ने खुद गद्दी पर बैठाया है और वह इसके काबिल नहीं हैं।

स्कूलों और कुछ कार्यालयों को बंद कर दिया गया है। सभी प्रदर्शनकारी पूर्वी लाहौर के रास्ते से होते हुए आज दिन में इस्लामाबाद की ओर बढ़ेंगे। इस प्रदर्शन के मद्देनजर पुलिस ने चौकियों पर चौकसी बढ़ा दी है और अतिरिक्त बलों को तैनात कर दिया गया है।

जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-फ़ज़ल पार्टी की कमान संभालने वाले रहमान ने आजादी मार्च के रूप में अपना विरोध जताया है। रहमान ने गुरुवार देर रात लाहौर में संवाददाताओं से कहा कि अगर इस्लामाबाद पहुंचने के बाद हमें कोई परिणाम नहीं मिले तो यह आंदोलन नहीं रुकेगा।

उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री इमरान खान का इस्तीफा चाहते हैं, पूरी विधानसभा नकली है, हम इसे भंग करना चाहते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम इमरान खान ने पिछले साल का चुनाव भ्रष्टाचार खत्म करने, मध्यम वर्गीय परिवारों की मदद करने और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के वादे पर जीता था।

Nikita patel…