भाजपा का मतदान 12 दिसंबर को होगा और शाम को घोषित किया जाएगा परिणाम …

लखनऊ: रामपुर सदर विधानसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी की डॉ.तजीन फात्मा के इस्तीफा के बाद खाली राज्यसभा की सीट पर भाजपा ने दावेदारी ठोंकी है। उप चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने आज नामांकन किया। लखनऊ में अरुण सिंह ने रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर भेंट की।

भाजपा के अरुण सिंह सोमवार को विधान भवन के सेंट्रल हाल में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस खाली सीट के लिए मतदान 12 दिसंबर को होगा और शाम को परिणाम घोषित किया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने जिस रिक्त सीट के लिए पार्टी प्रत्याशी के रूप में नामांकन किया, यह सपा की राज्यसभा सदस्य डॉ.तजीन फात्मा के इस्तीफे से रिक्त हुई है। तजीन फात्मा समाजवादी पार्टी से सांसद मोहम्मद आजम खां की पत्नी हैं जो उनकी छोड़ी हुई रामपुर सीट पर हुए उप चुनाव में विधायक चुनी गई हैं।

अरुण सिंह भाजपा प्रदेश मुख्यालय से विधान भवन में भाजपा विधानमंडल कार्यालय पहुंचे। इसके बाद सेंट्रल हॉल में नामांकन किया। इस नामांकन के दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डा. दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, सुरेश खन्ना, ब्रजेश कुमार पाठक, डॉ महेंद्र सिंह, अनिल राजभर, उपेन्द्र तिवारी भी उपस्थित थे। अरुण सिंह का कार्यकाल 25 नवंबर 2020 तक का है।

राज्यसभा की खाली सीट पर नामांकन की आज अंतिम तिथि है। तीन तक नामांकन पत्रों की जांच होगी जबकि पांच दिसंबर को नाम वापस लेने की अंतिम तिथि है। किसी भी अन्य दल की ओर से किसी भी प्रत्याशी के मैदान में न उतरने के कारण भाजपा के अरुण सिंह का राज्यसभा में जाना तय है। राज्यसभा की खाली सीट के लिए उप चुनाव का मतदान 12 दिसंबर को होगा। सुबह नौ से शाम चार बजे तक मतदान होगा जबकि पांच बजे से मतगणना होगी। इसका परिणाम भी 12 दिसंबर को घोषित किया जाएगा। इस खाली सीट पर निर्वाचन सम्पन्न कराने की अंतिम तिथि 16 दिसंबर है। राज्यसभा उप चुनाव के लिए तारीख घोषित होने के बाद अब सभी राजनैतिक दलों ने कमर कस ली है। प्रदेश में संख्या बल के अनुसार भाजपा प्रत्याशी अरुण सिंह का जीतना तय माना जा रहा है।

राज्यसभा की खाली सीट पर नामांकन की आज अंतिम तिथि है। तीन तक नामांकन पत्रों की जांच होगी जबकि पांच दिसंबर को नाम वापस लेने की अंतिम तिथि है। किसी भी अन्य दल की ओर से किसी भी प्रत्याशी के मैदान में न उतरने के कारण भाजपा के अरुण सिंह का राज्यसभा में जाना तय है। राज्यसभा की खाली सीट के लिए उप चुनाव का मतदान 12 दिसंबर को होगा। सुबह नौ से शाम चार बजे तक मतदान होगा जबकि पांच बजे से मतगणना होगी। इसका परिणाम भी 12 दिसंबर को घोषित किया जाएगा। इस खाली सीट पर निर्वाचन सम्पन्न कराने की अंतिम तिथि 16 दिसंबर है। राज्यसभा उप चुनाव के लिए तारीख घोषित होने के बाद अब सभी राजनैतिक दलों ने कमर कस ली है। प्रदेश में संख्या बल के अनुसार भाजपा प्रत्याशी अरुण सिंह का जीतना तय माना जा रहा है।

नामांकन दाखिल करने के बाद अरुण सिंह ने भाजपा नेतृत्व का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुझ जैसे साधारण कार्यकर्ता को पार्टी ने संगठन और अब राज्यसभा की जिम्मेदारी दी है, उसे ईमानदारी और मेहनत से निभाउंगा। यह कार्यकर्ताओं की पार्टी है। जो समर्पित भाव से काम करता है वो आगे बढ़ता है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता के बल पर ही आज भाजपा विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनी है। देश में सबसे अधिक राज्यों में भाजपा की सरकार है। सबसे अधिक हमारे विधायक हैं सबसे अधिक हमारे सांसद हैं। पार्टी की एक विचारधारा है, उस विचारधारा के आधार पर विश्व की सबसे लोकप्रिय लोकप्रिय किसानों के मसीहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। उसी के साथ उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश अग्रणी राज्य बन रहा है उत्तर प्रदेश में विकास की गंगा बह रही है। उसमें मुझे जो भी मौका मिलेगा मैं पूरा योगदान राज सभा के नाते करूंगा।