मौसम विभाग की भविष्यवाणी- इन क्षेत्रों में अनुमान से कम पड़ेगी सर्दी…

जौनपुर: ओमप्रकाश सेठ

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार को संभावना जताई कि इस बार सर्दियों का मौसम अपेक्षाकृत कम सर्द रहेगा. आईएमडी  ने जारी सर्दियों संबंधी अपनी भविष्यवाणी कि इस बार का सर्दी (दिसंबर से फरवरी तक रहने वाला) का मौसम सामान्य से गर्म रहेगा। शुक्रवार को जारी अपने सर्दियों के पूर्वानुमान में आईएमडी ने कहा, आगामी सर्दियों के मौसम (दिसंबर से फरवरी) में भारत के उत्तरी हिस्सों के अलावा देश के अधिकांश हिस्सों में औसत न्यूनतम तापमान से अधिक गर्म होने की संभावना है। देश भर में गर्म मौसम का संकेत है।

मौसम विभाग ने अगले तीन महीनों के दौरान जबरदस्त शीत लहर वाले क्षेत्रों में भी कड़ाके की शीत लहर चलने की किसी भी संभावना से इनकार किया है। कड़ाके की शीत लहर चलने वाले क्षेत्रों (कोल्ड वेव जोन) में पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, मध्य महाराष्ट्र शामिल हैं।

मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि कोल्ड वेव जोन के दौरान दिसंबर से फरवरी में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रहेगा।
बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार सुबह बारिश हुई. यहां के कुछ इलाके ऐसे भी रहे जहां काफी देर तक बारिश होती रही. बारिश और तेज हवाओं ने दिल्‍ली-एनसीआर के लोगों को सर्दी का एहसास कराया. मौसम विभाग ने तापमान में गिरावट दर्ज की. हालांकि शुक्रवार सुबह आसमान साफ रहा और बढ़ी हुई सर्दी से राहत मिली. हालांकि सर्द हवालों ने शाम को तापमान में गिरावट बरकरार रखा.

कम हुआ प्रदूषण का स्तर
दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में बुधवार और फिर गुरुवार को हुई बारिश के बाद प्रदूषण के स्तर में भी कमी दर्ज की गई. दिल्ली के लोधी रोड इलाके में पीएम 2.5 का एयर क्वालिटी इंडेक्स 114 के स्तर पर रहा. वहीं आईटीओ पर यह 149 और आनंद विहार इलाके में 184 के स्तर पर दर्ज किया गया.

मनाली में बर्फबारी
विश्व विख्यात रोहतांग दर्रा पर अब तक पांच फीट के करीब ताजा बर्फबारी हुई है. वहीं, मनाली के पास मढ़ी दो फीट, गुलाबा और सोलंगनाला में एक फीट बर्फबारी हो चुकी है. हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी मनाली में बर्फबारी से जहां टूरिस्ट खुश हैं वहीं, घाटी के लोगों की परेशानी बढ़ गई है. क्योंकि यहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. मनाली में तापमान में माइनस में चला गया है. शीतलहर की चपेट में पूरी घाटी आ गई है.

हिमाचल में भारी बर्फबारी
हिमाचल प्रदेश में बीते दो दिन से मौसम खराब है और शिमला, कुल्लू, मनाली, किन्नौर, चंबा, कांगड़ा और लाहौल स्पीति में जमकर बर्फबारी हुई है. इसके अलावा, सूबे के मैदानी और मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश होने से ठंड बढ़ गई है. जानकारी के अनुसार, मंगलवार रात के बाद हिमाचल के तीन जिलों में खासी बर्फबारी दर्ज की गई है. किन्नौर ज़िले के छितकुल में करीब तीन फुट, रक्षच्छम, कल्पा और बारंग में एक फुट से अधिक बर्फबारी हुई है, जबकि रिकांगपिओ में भी आधा फुट तक ताजा हिमपात हुआ है.